कोरोना से कैसे बचें और कोरोना के लक्षण क्या क्या हैं?

हैल्लो दोस्तों, जैसा कि अभी का समय कोरोना के कारण  बहुत ही भयानक हो चुका है कई लोग कोरोना के संक्रमण में आकर अपनी जान जोख़िम में डाल चुके हैं और कुछ लोग इससे बच भी गए हैं। 
इस लेख में हम में कोरोना से संबंधित कुछ जानकारी प्राप्त करेंगे।


Table of contents (toc)


कोरोना के लक्षण 

कोरोना के मुख्य तीन लक्षण दिखाई पड़ते हैं पर किसी व्यक्ति के ऊपर कोरोना का लक्षण चार-पाँच दिन बाद दिखाई पड़ता है और कभी कभी कुछ लोगों में लक्षण दिखाई नहीं देता तब भी वह व्यक्ति कोरोना से संक्रमित रहता है।

1. लगातार बुखार आना : किसी व्यक्ति को अगर बहुत तेज बुखार है और दवाई लेने के बाद भी बुखार कम नहीं होता है तो ऐसा ही सकता है कि वह व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो।

2. खाँसी आना : गले में हल्का सा अजीब सा खसखसाहट होने लगे और वह व्यक्ति खाँस रहा हो और गले से खरास न निकले और बीच बीच में छींक आने लगे। इसके कारण वह व्यक्ति को साँस लेने में दिक्कत आ सकती और उसके सूंघने की शक्ति भी बिल्कुल खत्म हो जाती है। इसका कारण यह भी होगा की उसके नाक, मुँह, गले आदि जगह में कोरोना वायरस फैल चुका हो।

3. थकान महसूस करना : कोई व्यक्ति को लंबे समय तक थकान महसूस होना या कमजोरी लगना भी कोरोना से संक्रमित होने का लक्षण है।

कोरोना से कैसे बचें?
कोरोना से कैसे बचें?



क्या सभी लोगों में कोरोना का लक्षण एक जैसा दिखाई देता है?

हम अगर इस सवाल का जानने की कोशिश करें तो यह पता चलेगा कि लोगों में कोरोना का लक्षण एक जैसा दिखाई न पड़े। 

इसका कारण जानने के लिए हम इस उदाहरण से समझ सकते हैं-
मान लेते हैं कि किसी व्यक्ति को साँस (हवा) के माध्यम से कोरोना वायरस उसके शरीर में प्रवेश करता है तो उसे खाँसी, सांस लेने में तकलीफ, तेज बुखार आ सकता है। अब दूसरे स्थिति की बात करें तो उस व्यक्ति के ऊपर कोरोना किसी खाद्य सामग्री के माध्यम से प्रवेश किया हो तो उसे पेट में दर्द, उल्टी,थकान आदि मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

व्यक्ति को ऐसे किसी लक्षण का आभास हो तो क्या करे?

अभी का समय में किसी व्यक्ति को बुखार, सर्दी-खाँसी, पेट दर्द भूख न लगना आदि लक्षण दिखाई देता है तो वह बहुत घबरा जाता है ऐसे में उसे एक बार डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। 

कुछ स्थिति में ऐसा भी हो जाता है कि जो व्यक्ति किसी दूसरे बीमारी का शिकार हो और वह कोरोना संक्रमित समझ कर उस बीमारी का इलाज कराने के बजाए कोरोना से बचने का उपाय सोच रहा हो। ऐसे में बेहतर है कि आप बीमारी को समझने की कोशिश करें और सेहत का ध्यान रखें।

अगर आप कहीं बाहर घूम कर आये हैं या आपके आस पास कोरोना मरीज है या आप किसी कोरोना मरीज से मिलकर आये हों तब कहा जा सकता है कि आपको भी कोरोना संक्रमित कर चुका हो।

यह भी देखें 

कोरोना से संक्रमित हो जाएं तो क्या करें ?



कोरोना संक्रमित व्यक्ति क्या करे?

अगर कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित है तो उसे कम से कम दो सप्ताह यानी 14-15 दिन खुद को सेल्फ आइसोलेशन में रखना चाहिए। 

कोरोना के लक्षण के अनुसार वह अपना दवाई ले सकता है जैसे अगर उसे थकान महसूस होती है तो ऐसे फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए जिसमें विटामिन सी की मात्र अधिक हो जैसे टमाटर, आम, संतरा, निम्बू और ताकत के लिए अंडा हल्दी वाला दूध आदि। 

बुखार, सिर में दर्द, पेट में दर्द आदि का इलाज के लिए डॉक्टर से सलाह लेकर दवाई को सही समय में लें। 


कोरोना के लक्षण

ऐसे समय में काढ़ा का सेवन करने से शरीर का बहुत फायदा हो सकता है। गरमा गरम काढ़ा से गले को आराम मिलता है। सर्दी या खाँसी ठंड के समय में ज्यादा साकार होते हैं ऐसे में अगर गर्म काढ़ा पिया जाए तो गले में अगर कोरोना है तो उसका असर को जल्द से जल्द कम किया जा सकता है। क्योंकि शुरुआत में ही देखे की हमारे शरीर में कोरोना का पता चार पाँच दिन बाद पता चलता है इसलिए काढ़ा कोरोना का असर को धीरे धीरे कम करने में सक्षम हो जाता है।

अगर कोई व्यक्ति की स्थिति बहुत ही ज्यादा कगरब हो जाती है तब उसे हॉस्पिटल में एडमिट होने की जरूरत पड़ेगी।

आशा करता हूँ कि आप लोकडाउन में सभी नियमों का पालन करते हुए घर में सुरक्षित हैं।

कोरोना से कैसे बचा जा सकता है?

अभी तक तो हम सिर्फ कोरोना का लक्षण को ही देखें हैं हम इससे कैसे बाख सकते हैं अब इसके बारे में जानते हैं-

  • कोरोना से बचने के लिए मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग करें।

मास्क और सैनिटाइजर का प्रयोग

  • नियमित रूप से अपने हाथ को साबुन से धोते रहें और सैनिटाइजर हर एक घंटे में एक बार जरूर लगाएँ।
  • जब कोई खाँसता है या छींकता है तो उसके करीब न रहें तथा सोशल डिस्टेंस बनाये रखें।
  • डॉक्टर से ऑनलाइन बात करके घर बैठे ही कोरोना से बचने के लिए सलाह लेनी चाहिए और उसी के अनुसार अपना खुद का शरीर को सुरक्षित रख जा सकता है।
  • गर्म पानी और काढ़ा बना कर पीयें।
  • हाथ रुमाल का उपयोग न करें। इसके जगह पर टिशू पेपर और सैनिटाइजर का जहाँ जरूरत लगे वहीं उपयोग करें।
  • घर में जूते, चप्पल पहन कर प्रवेश न करें, उन्हें बाहर ही उतारें।
  • घर अंदर जाने से पहले हाथ पैर को अच्छी तरह से साबुन से धोएँ।
  • कसरत और योगा करना चाहिए। खासकर प्राणायम तो जरूर करें इससे साँस से संबंधित बाधाएँ नहीं आती है।

आपके इस कदम से आपके घर में कोरोना को कदम रखने से रोका जा सकता है। 


भारत में कोरोना कैसे और कब खत्म होगा?

हमारा देश भारत ही नहीं बल्कि कोरोना से पूरे विश्व की सभी देश इस मुश्किल घड़ी से गुजर रहा है। पिछले 2 3 दशक की इतिहास देखा जाए तो पूरे विश्व ने साथ मिलकर इबोला, सार्स और स्वाइन फ्लू जैसे घातक बीमारी को हराने में सक्षम रहा है। क्या कोरोना इन सब से अलग है? 

कोरोना को पूरी तरह से खत्म करने के लिए आज सभी देशों ने टीका बनाने की खोज में जुट गए हैं। फलस्वरूप हमें वह टीका मिल चुका है। शोधकर्ताओं का कहना है कि टीका शरीर से 97% तक कोरोना को खत्म कर सकता है। कोई भी दवाई का काम शरीर के इम्यून सिस्टम को और ज्यादा ताकत बनाने का काम करता है ताकि शरीर से बीमारी दूर हो सके इसलिए इस बात का ध्यान जरूर दें कि कोरोना का टीका लगने के बाद भी ऐसे नियमों का पालन जरूर करें जिससे कोरोना का संक्रमण न हो। ऐसा न हो कि टीका लगवाने के बाद भी आपको कोरोना आपके शरीर का पीछा न छोड़े। 

अभी भारत में टीका लगना शुरू हो चुका है। लोगों के तरह तरह के अफवाहों से बचें और टीका लगाकर अपने परिवार और देश को कोरोना मुक्त करें।

टीका के माध्यम से कोरोना को ख़त्म किया जा सकता है और दूसरी महत्वपूर्ण बातें यह भी है कि प्रसाशन के नियमों का जैसे मास्क लगाना, सामाजिक दूरी, सैनिटाइजर का उपयोग आदि का पालन करके कोरोना मुक्त देश बनाये।

अगर आपको लेख अच्छा लगा तो अपना विचार कमेंट सेक्शन में लिखें और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।।

Post a Comment

2 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !